Rajasthan Chief Minister Ashok Gehlot Says His Advisers Wont Enjoy Ministerial Status – राजस्थान: सीएम गहलोत ने कहा- मुख्यमंत्री के सलाहकारों को कैबिनेट मंत्री या राज्यमंत्री का दर्जा नहीं मिलेगा

सार

भाजपा ने नियुक्तियों पर आपत्ति जताई थी और राज्यपाल कलराज मिश्रा को एक ज्ञापन सौंपा था, जिन्होंने उनकी संवैधानिक स्थिति पर स्पष्टता मांगी थी।

अशोक गहलोत (फाइल फोटो)
– फोटो : Facebook

ख़बर सुनें

राजस्थान में सीएम के सलाहकारों की नियुक्ति की घोषणा के बाद राजनीति जोरों पर है। लेकिन इस विवाद पर लगाम लगाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कहा कि उनके सलाहकार के रूप में नियुक्त विधायकों या जिन्हें संसदीय सचिव बनाया जाएगा, उन्हें कोई कैबिनेट मंत्री या राज्यमंत्री का दर्जा नहीं मिलेगा।

पिछले हफ्ते राजस्थान कैबिनेट में फेरबदल के कुछ घंटे बाद, अशोक गहलोत ने छह सलाहकार नियुक्त किए थे, जिसमें तीन कांग्रेस विधायक शामिल थे। भाजपा ने नियुक्तियों पर आपत्ति जताई थी और राज्यपाल कलराज मिश्रा को एक ज्ञापन सौंपा था, जिन्होंने उनकी संवैधानिक स्थिति पर स्पष्टता मांगी थी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि संसदीय सचिवों और सलाहकारों की नियुक्तियां पहले होती रही हैं लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इन्हें सुविधाएं और दर्जा नहीं दिया जा सकता है लेकिन अगर उन्हें ये नहीं दिया जाता है, तो इसमें गलत क्या है।

महंगाई पर लगाम लगाने की जरूरत है
सीएम गहलोत ने केंद्र सरकार से तेल कंपनियों को ईंधन की कीमतों में वृद्धि की बजाय उनकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए अनुदान देने की भी मांग की, उन्होंने कहा कि तेल की कीमतें जनता पर भारी पड़ती हैं। साथ ही गहलोत ने कहा कि महंगाई ने पूरे देश में लोगों को झकझोर दिया है और इस पर लगाम लगाने की जरूरत है।

आगे मीडिया से बात करते हुए सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि वे संघीय ढांचे को नहीं समझ पा रहे हैं। केंद्र सरकार राज्यों को आर्थिक रूप से कमजोर कर रही है। जब राज्य मजबूत होंगे, तो देश मजबूत होगा। राज्यों का वित्तीय प्रबंधन गड़बड़ा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सब केंद्र की गलत नीतियों के कारण हो रहा है।

विधानसभा चुनाव के कारण पेट्रोल-डीजल के दाम कम किए
सीएम ने कहा कि केंद्र ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के कारण पेट्रोल-डीजल के दाम कम किए हैं और लोग इसे समझते हैं। साथ ही कहा कि जब वे चुनाव के कारण दामों को कम कर सकते हैं, तो वे देश को यह आश्वासन क्यों नहीं दे सकते कि कीमतों में और वृद्धि नहीं की जाएगी।

कांग्रेस नई दिल्ली में महंगाई के मुद्दे पर एक विशाल रैली करेगी
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस नई दिल्ली में महंगाई के मुद्दे पर एक विशाल रैली करेगी, जिसमें राज्य से बड़ी संख्या में पार्टी के लोग भाग लेंगे। राज्य कांग्रेस प्रमुख गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि रैली में राजस्थान के लगभग 50,000 पार्टी कार्यकर्ता भाग लेंगे।भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि  भाजपा झूठे वादे करके सत्ता में आई और आम आदमी का जीवन दयनीय बना दिया।

विस्तार

राजस्थान में सीएम के सलाहकारों की नियुक्ति की घोषणा के बाद राजनीति जोरों पर है। लेकिन इस विवाद पर लगाम लगाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कहा कि उनके सलाहकार के रूप में नियुक्त विधायकों या जिन्हें संसदीय सचिव बनाया जाएगा, उन्हें कोई कैबिनेट मंत्री या राज्यमंत्री का दर्जा नहीं मिलेगा।

पिछले हफ्ते राजस्थान कैबिनेट में फेरबदल के कुछ घंटे बाद, अशोक गहलोत ने छह सलाहकार नियुक्त किए थे, जिसमें तीन कांग्रेस विधायक शामिल थे। भाजपा ने नियुक्तियों पर आपत्ति जताई थी और राज्यपाल कलराज मिश्रा को एक ज्ञापन सौंपा था, जिन्होंने उनकी संवैधानिक स्थिति पर स्पष्टता मांगी थी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि संसदीय सचिवों और सलाहकारों की नियुक्तियां पहले होती रही हैं लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इन्हें सुविधाएं और दर्जा नहीं दिया जा सकता है लेकिन अगर उन्हें ये नहीं दिया जाता है, तो इसमें गलत क्या है।

महंगाई पर लगाम लगाने की जरूरत है

सीएम गहलोत ने केंद्र सरकार से तेल कंपनियों को ईंधन की कीमतों में वृद्धि की बजाय उनकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए अनुदान देने की भी मांग की, उन्होंने कहा कि तेल की कीमतें जनता पर भारी पड़ती हैं। साथ ही गहलोत ने कहा कि महंगाई ने पूरे देश में लोगों को झकझोर दिया है और इस पर लगाम लगाने की जरूरत है।

आगे मीडिया से बात करते हुए सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि वे संघीय ढांचे को नहीं समझ पा रहे हैं। केंद्र सरकार राज्यों को आर्थिक रूप से कमजोर कर रही है। जब राज्य मजबूत होंगे, तो देश मजबूत होगा। राज्यों का वित्तीय प्रबंधन गड़बड़ा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सब केंद्र की गलत नीतियों के कारण हो रहा है।

विधानसभा चुनाव के कारण पेट्रोल-डीजल के दाम कम किए

सीएम ने कहा कि केंद्र ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के कारण पेट्रोल-डीजल के दाम कम किए हैं और लोग इसे समझते हैं। साथ ही कहा कि जब वे चुनाव के कारण दामों को कम कर सकते हैं, तो वे देश को यह आश्वासन क्यों नहीं दे सकते कि कीमतों में और वृद्धि नहीं की जाएगी।

कांग्रेस नई दिल्ली में महंगाई के मुद्दे पर एक विशाल रैली करेगी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस नई दिल्ली में महंगाई के मुद्दे पर एक विशाल रैली करेगी, जिसमें राज्य से बड़ी संख्या में पार्टी के लोग भाग लेंगे। राज्य कांग्रेस प्रमुख गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि रैली में राजस्थान के लगभग 50,000 पार्टी कार्यकर्ता भाग लेंगे।भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि  भाजपा झूठे वादे करके सत्ता में आई और आम आदमी का जीवन दयनीय बना दिया।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button