Padmashree Wrestler Virendra Singh Warns Of Picketing At Pm’s Residence – पद्मश्री पहलवान गूंगा की चेतावनी: पुरानी नीति से राशि और नौकरी नहीं मिली तो पीएम आवास पर देंगे धरना

अमर उजाला ब्यूरो, चंडीगढ़
Published by: भूपेंद्र सिंह
Updated Tue, 23 Nov 2021 06:03 PM IST

सार

पहलवान वीरेंद्र सिंह उर्फ गूंगा दोबारा से खेल निदेशक से मिलने पहुंचे। उनकी मांग है कि पुरानी नीति से राशि और नौकरी दी जाए। जबकि विभाग ने कहा कि नई पॉलिसी से लाभ मिलेगा।

ख़बर सुनें

पद्मश्री से सम्मानित पहलवान वीरेंद्र सिंह उर्फ गूंगा ने चेताया है कि अगर उसे पुरानी 2016-17 की खेल पॉलिसी के मुताबिक कैश अवॉर्ड और नौकरी नहीं दी गई तो वह पीएम आवास पर धरना देगा। पहलवान का कहना है कि विभाग बार-बार उसे आश्वासन दे रहा है, लेकिन समाधान नहीं कर रहा है। 

सोमवार को गूंगा पहलवान ने फिर से चंडीगढ़ में खेल निदेशक पंकज नैन से मुलाकात की। पहलवान ने मांग कि उसे वर्ष 2016-17 के केश अवॉर्ड और नौकरी दी जाए। खेल निदेशक ने पैरा खिलाड़ियों की पॉलिसी के आधार पर विभाग में नौकरी देने का आश्वासन दिया, जिसे गूंगा पहलवान ने नकार दिया।

गूंगा पहलवान के भाई रामवीर का कहना है कि विभाग 2016-17 का केश अवॉर्ड और नौकरी देने का राजी नहीं है। विभाग की ओर से आश्वासन दिया जा रहा है कि नई खेल पॉलिसी के तहत विभाग में सीनियर कोच बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें ः हरियाणा: कृष्ण भक्त आईपीएस भारती अरोड़ा ने दोबारा मांगी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति, गृह मंत्री विज ने सीएम को भेजी फाइल

गूंगा के भाई ने बताया कि अब उनके पास पीएम आवास पर धरना देने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है। पहले भी गूंगा पहलवान अवॉर्ड के साथ दिल्ली में हरियाणा भवन के सामने धरने पर बैठ गया था और सीएम के आश्वासन पर उठा था। 

वहीं खेल निदेशक आईपीएस पंकज नैन का कहना है कि गूंगा पहलवान को पैरा ओलंपिक खिलाड़ियों की तर्ज नौकरी देने का आश्वासन दिया गया है। इसके साथ ही केश आवार्ड को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार कमेटी गठित की जाएगी।

विस्तार

पद्मश्री से सम्मानित पहलवान वीरेंद्र सिंह उर्फ गूंगा ने चेताया है कि अगर उसे पुरानी 2016-17 की खेल पॉलिसी के मुताबिक कैश अवॉर्ड और नौकरी नहीं दी गई तो वह पीएम आवास पर धरना देगा। पहलवान का कहना है कि विभाग बार-बार उसे आश्वासन दे रहा है, लेकिन समाधान नहीं कर रहा है। 

सोमवार को गूंगा पहलवान ने फिर से चंडीगढ़ में खेल निदेशक पंकज नैन से मुलाकात की। पहलवान ने मांग कि उसे वर्ष 2016-17 के केश अवॉर्ड और नौकरी दी जाए। खेल निदेशक ने पैरा खिलाड़ियों की पॉलिसी के आधार पर विभाग में नौकरी देने का आश्वासन दिया, जिसे गूंगा पहलवान ने नकार दिया।

गूंगा पहलवान के भाई रामवीर का कहना है कि विभाग 2016-17 का केश अवॉर्ड और नौकरी देने का राजी नहीं है। विभाग की ओर से आश्वासन दिया जा रहा है कि नई खेल पॉलिसी के तहत विभाग में सीनियर कोच बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें ः हरियाणा: कृष्ण भक्त आईपीएस भारती अरोड़ा ने दोबारा मांगी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति, गृह मंत्री विज ने सीएम को भेजी फाइल

गूंगा के भाई ने बताया कि अब उनके पास पीएम आवास पर धरना देने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है। पहले भी गूंगा पहलवान अवॉर्ड के साथ दिल्ली में हरियाणा भवन के सामने धरने पर बैठ गया था और सीएम के आश्वासन पर उठा था। 

वहीं खेल निदेशक आईपीएस पंकज नैन का कहना है कि गूंगा पहलवान को पैरा ओलंपिक खिलाड़ियों की तर्ज नौकरी देने का आश्वासन दिया गया है। इसके साथ ही केश आवार्ड को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार कमेटी गठित की जाएगी।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button