Jharkhand: After The Latest Bandh Of The Naxalite Organization, Tight Security Arrangements Were Made In Palamu Mandal – झारखंड : नक्सली संगठन के ताजा बंद के बाद पलामू मंडल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए

पीटीआई, मेदिनीनगर
Published by: Kuldeep Singh
Updated Wed, 24 Nov 2021 06:53 AM IST

सार

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि भाकपा (माओवादी) ने मंगलवार आधी रात से बिहार, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और झारखंड में बंद का आह्वान किया है। डीआईजी (पलामू संभाग) राजकुमार लाकड़ा ने मीडिया को बताया, हमने बंद के दौरान किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पलामू संभाग के तहत पलामू, गढ़वा और लातेहार जिलों में जिला सशस्त्र पुलिस और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया है।

झारखंड पुलिस
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

झारखंड के पलामू संभाग में एक प्रतिबंधित संगठन द्वारा अपने शीर्ष नेता प्रशांत बोस उर्फ किशन दा की गिरफ्तारी के विरोध के चलते चार राज्यों में तीन दिवसीय बंद के आह्वान के मद्देनजर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि भाकपा (माओवादी) ने मंगलवार आधी रात से बिहार, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और झारखंड में बंद का आह्वान किया है। डीआईजी (पलामू संभाग) राजकुमार लाकड़ा ने मीडिया को बताया, हमने बंद के दौरान किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पलामू संभाग के तहत पलामू, गढ़वा और लातेहार जिलों में जिला सशस्त्र पुलिस और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया है।

राजकुमार लाकड़ा ने कहा कि सभी तीन नक्सल प्रभावित जिलों के पुलिस अधीक्षकों को बंद के दौरान सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही रेलवे पटरियों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की इमारतों पर नजर रखने और सड़क यातायात के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने को कहा है। 

उन्होंने कहा कि डीआईजी ने कहा कि संवेदनशील इलाकों में गश्त तेज कर दी गई है और एहतियात के तौर पर संदिग्धों को हिरासत में लिया जा रहा है। माओवादियों द्वारा आहूत तीन दिवसीय बंद पिछले तीन दिनों में दूसरा बंद होगा।

हाल ही में झारखंड में सरायकेला-खरसावां जिला पुलिस द्वारा 75 वर्षीय प्रशांत बोस, उनकी पत्नी शीला मरांडी और चार अन्य की गिरफ्तारी के विरोध में गैरकानूनी संगठन ने 20 नवंबर को भारत बंद रखा था। बोस उर्फ किशन दा के सिर पर एक करोड़ रुपये का इनाम था।

विस्तार

झारखंड के पलामू संभाग में एक प्रतिबंधित संगठन द्वारा अपने शीर्ष नेता प्रशांत बोस उर्फ किशन दा की गिरफ्तारी के विरोध के चलते चार राज्यों में तीन दिवसीय बंद के आह्वान के मद्देनजर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि भाकपा (माओवादी) ने मंगलवार आधी रात से बिहार, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और झारखंड में बंद का आह्वान किया है। डीआईजी (पलामू संभाग) राजकुमार लाकड़ा ने मीडिया को बताया, हमने बंद के दौरान किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पलामू संभाग के तहत पलामू, गढ़वा और लातेहार जिलों में जिला सशस्त्र पुलिस और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया है।

राजकुमार लाकड़ा ने कहा कि सभी तीन नक्सल प्रभावित जिलों के पुलिस अधीक्षकों को बंद के दौरान सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही रेलवे पटरियों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की इमारतों पर नजर रखने और सड़क यातायात के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने को कहा है। 

उन्होंने कहा कि डीआईजी ने कहा कि संवेदनशील इलाकों में गश्त तेज कर दी गई है और एहतियात के तौर पर संदिग्धों को हिरासत में लिया जा रहा है। माओवादियों द्वारा आहूत तीन दिवसीय बंद पिछले तीन दिनों में दूसरा बंद होगा।

हाल ही में झारखंड में सरायकेला-खरसावां जिला पुलिस द्वारा 75 वर्षीय प्रशांत बोस, उनकी पत्नी शीला मरांडी और चार अन्य की गिरफ्तारी के विरोध में गैरकानूनी संगठन ने 20 नवंबर को भारत बंद रखा था। बोस उर्फ किशन दा के सिर पर एक करोड़ रुपये का इनाम था।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button