If We Do Not Allow Shops For Four Hours, There Will Be A Struggle: Traders – चार घंटे दुकानें न खोलनी दी तो व्यापारी करेंगे संघर्ष : व्यापारी

ख़बर सुनें

ऊना। कोरोना महामारी के चलते दुकानदारों को भारी घाटा पड़ने और व्यापारियों को अपनी और परिवार की रोजी-रोटी के लाले पड़ने लगे हैं। इसे लेकर रविवार को व्यापार मंडल ने आवाज उठाना शुरू कर दी है।
इसके लिए व्यापारियों ने अपनी ओर से संघर्ष की भी घोषणा कर दी है। इस संबंध में शहर ऊना के एमसी पार्क में रविवार को व्यापारियों ने एकत्रित होकर दुकानें खुलवाने को लेकर विचार विमर्श किया। इस दौरान संयुक्त व्यापार मंडल शहरी इकाई के प्रधान प्रिंस राजपूत, व्यापार मंडल के प्रधान मोती लाल कपिला और संयुक्त व्यापार मंडल के महिला विंग की प्रधान सविता अरोड़ा सहित सभी व्यापारियों ने सरकार और प्रशासन को चेतावनी दी है कि यदि सभी दुकानदारों को सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक दुकानें खोलने की इजाजत नहीं दी गई तो न केवल प्रशासनिक अधिकारियों का घेराव होगा, बल्कि रेड लाइट चौक ऊना से सभी व्यापारी एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।
उन्होंने कहा कि व्यापारियों के पास किराये की दुकानें हैं। जिनका किराया बहुत अधिक है। इस कारण दुकानदारों पर किराये का बोझ लगातार बढ़ रहा है। न तो मालिक किराया माफ कर रहे हैं और न कम कर रहे हैं। इसके अलावा दुकानदार दुकानों में रखे स्टाफ के लोगों को वेतन और अन्य लेन-देन के बोझ तले दब रहे हैं। जिला ऊना के 80 प्रतिशत दुकानदारों की स्थिति ऐसी है कि वे रोज कमाते हैं तभी उनका तीन समय का खाना मिल पाता है। इस अवसर पर उनके साथ संजय कोहली, रघु पुरी, विवेक बख्शी, पंकज अरोड़ा, राघव पुरी, राजन पुरी, मोन अरोड़ा, राज कुमार सैणी, मोन, नितिन शर्मा, कर्ण सिद्धवाणी ने जिला प्रशासन से मांग की है कि दुकानदारों की स्थिति को देखते हुए उन्हें चार घंटे दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान करें।

ऊना। कोरोना महामारी के चलते दुकानदारों को भारी घाटा पड़ने और व्यापारियों को अपनी और परिवार की रोजी-रोटी के लाले पड़ने लगे हैं। इसे लेकर रविवार को व्यापार मंडल ने आवाज उठाना शुरू कर दी है।

इसके लिए व्यापारियों ने अपनी ओर से संघर्ष की भी घोषणा कर दी है। इस संबंध में शहर ऊना के एमसी पार्क में रविवार को व्यापारियों ने एकत्रित होकर दुकानें खुलवाने को लेकर विचार विमर्श किया। इस दौरान संयुक्त व्यापार मंडल शहरी इकाई के प्रधान प्रिंस राजपूत, व्यापार मंडल के प्रधान मोती लाल कपिला और संयुक्त व्यापार मंडल के महिला विंग की प्रधान सविता अरोड़ा सहित सभी व्यापारियों ने सरकार और प्रशासन को चेतावनी दी है कि यदि सभी दुकानदारों को सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक दुकानें खोलने की इजाजत नहीं दी गई तो न केवल प्रशासनिक अधिकारियों का घेराव होगा, बल्कि रेड लाइट चौक ऊना से सभी व्यापारी एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा कि व्यापारियों के पास किराये की दुकानें हैं। जिनका किराया बहुत अधिक है। इस कारण दुकानदारों पर किराये का बोझ लगातार बढ़ रहा है। न तो मालिक किराया माफ कर रहे हैं और न कम कर रहे हैं। इसके अलावा दुकानदार दुकानों में रखे स्टाफ के लोगों को वेतन और अन्य लेन-देन के बोझ तले दब रहे हैं। जिला ऊना के 80 प्रतिशत दुकानदारों की स्थिति ऐसी है कि वे रोज कमाते हैं तभी उनका तीन समय का खाना मिल पाता है। इस अवसर पर उनके साथ संजय कोहली, रघु पुरी, विवेक बख्शी, पंकज अरोड़ा, राघव पुरी, राजन पुरी, मोन अरोड़ा, राज कुमार सैणी, मोन, नितिन शर्मा, कर्ण सिद्धवाणी ने जिला प्रशासन से मांग की है कि दुकानदारों की स्थिति को देखते हुए उन्हें चार घंटे दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान करें।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button